इन 10 नेताओं ने मामूली शिक्षा के बाद भी रहे बड़ें पदों पर, कोई दसवीं तो कोई छठी पास


0

देश के कुछ नेता ऐसे भी है जो बहुत कम लिखे हैं। बेहद कम पढ़े लिखे होने के बावजूद भी इन लोगों में से कुछ मुख्यमंत्री बने तो कुछ केंद्र में मंत्री। आइए जानते हैं ऐसी ही 10 राजनेताओं के बारें में जिन्होंने बहुत कम पढ़ाई की है।

स्मृति ईरानी- केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी इंटर पास हैं। 2019 में चुनाव आयोग को दिये हलफनामे के मुताबिक स्मृति ईरानी ने इंटर के बाद बीकॉम में एडमिशन लिया लेकिन कोर्स पूरा नहीं किया।

तेजस्वी यादव- बिहार के डिप्टी सीएम रह चुके तेजस्वी यादव ने सिर्फ 10वीं तक पढ़ाई की है।

ऊमा भारती- बीजेपी की कद्दावर नेत्री औऱ केंद्र में मंत्री रह चुकीं ऊमा भारती मात्र छठी क्लास तक पढ़ी हैं।

अशोक गजपति राजू- अशोक गजपति राजू मोदी सरकार में नागरिक उड्डयन मंत्री रह चुके हैं। विजयनगरम राजघराने के राजू मात्र 10वीं पास हैं।

राबड़ी देवी- बिहार की सीएम रह चुकीं राबड़ी देवी जब 14 साल की थीं तब उनकी शादी लालू प्रसाद यादव से हो गई थी। अपने हलफनामे में राबड़ी देवी ने लिखा है कि वह मैट्रिक पास भी नहीं हैं। माना जाता है कि उन्होंने बेहद प्रारंभिक शिक्षा ही हासिल की है।

अनंत गीते- पूर्व कैबिनेट मंत्री और शिवसेना के बड़े नेता अनंत गीते 10वीं तक पढ़े हैं।

तेज प्रताप यादव- बिहार में चिकित्सा मंत्री रह चुके राजद के तेज प्रताप यादव 11वीं तक पढ़े हैं। इसके आगे की पढ़ाई उन्होंने नहीं की है।

जाफर शरीफ- रेल मंत्री रह चुके दिवंगत जाफर शरीफ सिर्फ मैट्रिक तक पढ़े थे। जाफर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष एस निंगलिजप्पा के ड्राइवर हुआ करते थे। बाद में वह राजनीति में आ गए।

एम करुणानिधि- तमिलनाडु के सीएम रह चुके दिवंगत एम करुणानिधि ने दसवीं के बाद पढ़ाई नहीं की।

फूलन देवी- दिवंगत फूलन देवी ने कोई शिक्षा हासिल नहीं की थी।


Like it? Share with your friends!

0
vikas

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *