पुरानी से पुरानी सोरायसिस की बीमारी को खत्म करने के रामबाण उपचार

पुरानी से पुरानी सोरायसिस की बीमारी को खत्म करने के रामबाण उपचार

आज मैं बहुत ही गंभीर बीमारी के बारे में बताने जा रहा हूँ। जी हाँ, दोस्तों मैं बात कर रहा हूँ सोरायसिस के बारे में, सोरायसिस पर ध्यान न दिया जाय तो यह काफी गंभीर रूप धारण कर लेती है। हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार, त्वचा पर होने वाले अन्य रोगों से अलग सोराइसिस नाम का रोग अति सक्रिय प्रतिरोधक प्रणाली से होता है, जिसमें शरीर की प्रतिरोधक प्रणाली ही स्वस्थ कोशिकाओं और ऊतकों पर हमला करती है। सोराइसिस के सामान्य लक्षणों में शरीर के प्रभावित सामान्य अंगों में खुजली होती है। त्वचा पर पपड़ी जैसी ऊपरी परत जम जाती है। शरीर में लाल-लाल धब्बे और चकत्ते हो जाते हैं। सोराइसिस की समस्या जल्दी ठीक नहीं होती है किन्तु अगर इसका नियमित उपचार किया जाय तो इससे छुटकारा पाया जा सकता है। आज मैं आपको सोरायसिस के बारे में जो उपचार बताने जा रहा हूँ, उससे इसे काफी हद तक रोंका और खत्म किया जा सकता है। आइये जानते हैं सोरायसिस के उपचार के बारे में …
पुरानी से पुरानी सोराइसिस को ख़त्म करने के रामबाण उपचार
1.क्लीजिंग :इसके तहत लिवर का शोधन सबसे महत्वपूर्ण है। यह शोधन आसानी से एपसम साल्ट, जैतून का तेल या अरंडी तेल व नींबू से किया जा सकता है। साथ में क्षारीय भोजन व पानी की सही मात्रा के प्रयोग से शरीर का भी शोधन होने लगता है। इस कारण बीमारी के तेजी से ठीक होने में मदद मिलती है।
2.बादाम : रात को सोने से कुछ देर पहले आप 10 बादाम की गिरी लें और उन्हें अच्छी तरह पीसकर पाउडर बनायें। आप इन्हें 1 से ½ ग्लास पानी में कुछ देर उबलने के लिए छोड़ दें और ठंडा हो जाने पर रोगी के घावों पर लगाएं। आप इसे रात भर रोगी के शरीर पर ही लगा रहने दें और सुबह उठकर शरीर को साफ़ करें। इस उपचार से सोरायसिस के इलाज के लिए अच्छे परिणाम मिले है।
3.चन्दन : ठीक बादाम की ही तरह आप 1 चम्मच चंदन का पाउडर तैयार कर लें और उसे करीब 600 मिलीलीटर पानी में अच्छी तरह उबालें। जब आपको लगे कि 200 मिलीलीटर पानी ही बचा हुआ है तो आप उसे उतारे और ठंडा होने दें। इस पानी में आप शक्कर और थोडा गुलाबजल डालकर मिलाएं। इस तरह रोगी के लिए एक उत्तम दवा तैयार है, इससे अधिक से अधिक लाभ पाने के लिए रोगी को इसे दिन में 3 बार बनाना और पीना है।
4.पत्तागोभी : पत्ता गोभी भी सोरायसिस के इलाज में बहुत असरदार होती है। इससे इलाज के लिए आपको पत्तागोभी का ऊपर वाला पत्ता लेना है और उससे पानी से साफ़ करना है। अब आप इसे हाथों के बीच लाकर सपाट करें और हल्का सा गर्म कर लें। आप इस पत्ते को सोरायसिस से प्रभावित हिस्से पर रखें और पत्ते के ऊपर सूती कपडा लपेट दें। इस तरह आपको इस उपाय को दिन में 2 बार अपनाना है, ये उपाय आपको जबरदस्त तरीके से फायदा पहुंचाता है इसके अलावा पत्तागोभी का रोजाना सुबह शाम सूप बनाकर पियें। इससे भी आपको योग्य परिणाम देखने को मिलेंगे।
5.निम्बू : आप एक कटोरी में निम्बू रस निकाल लें और उसमें निम्बू रस की आधी मात्रा में पानी मिलाएं। इस मिश्रण को अच्छी तरह मिला लेने के बाद आप इसे उस जगह लगायें जहाँ सोरायसिस हुआ है। इस रस को आपको हर 4 घंटे के बाद प्रयोग में लाना है। अगर आप निम्बू रस पीते भी है तो भी इससे आपकी त्वचा का रोग धीरे धीरे कम होने लगता है।

COMMENTS

Skip to toolbar